https kya hai | what is https in hindi janye puri jankari

हेलो दोस्तों इस पोस्ट में मैं आपको यह बताने वाला हूं के https kya hai और http और  https मैं क्या अंतर है https क्यों ज्यादा अच्छा माना जाता है http के मुकाबले https के क्या फायदे हैं इस तरह के सभी सवालों का मैं आपको इस पोस्ट में जवाब देने वाला हूं जिसको पढ़ने के बाद आपको सब कुछ समझ में आ जाएगा के https kya hai

 

 

https kya hai
                         https kya hai

 

 

 

  • http kya hai..?

सबसे पहले बात करते हैं के http kya hai | तो http का पूरा फुल फॉर्म होता है Hyper Text Transfer Protocol. यह एक जरिया है जिससे हम लोगों का Browser और सरवर आपस में कम्यूनिकेट कर पाते हैं जैसे हम लोगों की दुनिया में आपस में बात करने के लिए हम लोग एक दूसरे का नाम लेकर बात करते हैं ठीक उसी तरह इंटरनेट की दुनिया में जब हम लोग अपने Browser पर किसी भी वेबसाइट का नाम लिखते हैं जो की किसी Hosting में है यानी कि किसी सरवर पर है तो हमारा Browser और वह सरवर को आपस में बात करने के लिए http प्रोटोकॉल की जरूरत पड़ती है तो मैं आशा करता हूं के http क्या है आपको आप समझ में चुका होगा

 

 

 

  • http aur https mein kya antar hai..?

अब बात करते हैं http और https मैं क्या अंतर है | तो इसको अगर मैं आपको आसान शब्दों में समझाऊं तो आप इसको कुछ इस तरह समझ सकते हो जैसे हम लोगों की दुनिया में हम लोगों को कोई बात करना होता है तो हम लोग normally  ही आपस में बात करते हैं और अगर कोई Secret  बात करना हो तो आपस में हम लोग Code Word  में बात करते हैं टांके जो हम लोग जिस भी Topic पर बात कर रहे हैं वह किसी और को पता ना चल जाए ठीक उसी तरह https होता है | http प्रोटोकॉल यूज़ किया जाता है सरवर और Browser के बीच नॉर्मल बातचीत करने के लिए यानी के वह बात में कोई Code Word  यूज़ नहीं किया जाता जिसे अगर कोई चाहे तो वह देख सकता है के सरवर और Browser के बीच आखिर क्या बातचीत हो रहा है और https मैं सरवर और Browser के बीच Code Word  में बात होता है जिसे कोई भी अगर चाहे के सरवर और Browser के बीच क्या बातचीत हो रहा है तो वह नहीं देख सकता क्योंकि उन दोनों के बीच यानी कि सरवर और Browser के बीच Code Word  में बात हो रहा है जो कि उसका मतलब सिर्फ वही लोग समझ सकते हैं जिसको डि Code करना आता हो और यह बिलकुल भी आसान नहीं होता क्योंकि इस में end 2 end encryption होता है जो कि अगर कोई चाहे भी तो उसको डि Code नहीं कर सकता क्योंकि कोई भी चीज को डि Code करने के लिए उसको कुछ चीजों की जरूरत पड़ती है जैसे कि encryption को तोड़ने के लिए key की जरूरत पड़ती है जो के यह हासिल करना बहुत ही मुश्किल है तो मैं आशा करता हूं अब आपको समझ में आ चुका होगा के http और https मैं क्या अंतर है

 

 

 

  • https ke faide

अब मैं आपको बताता हूं https के कुछ फायदे के बारे में | मान लिया आप किसी वेबसाइट पर जाते हो Shopping करने के लिए एग्जांपल के लिए amazon.com पर Amazon का प्रोटोकॉल है http तो जब आप Shopping करने के बाद Amazon को pay  करोगे अपना Atm का नंबर या Debit card का नंबर वगैरह फिल करके तो यह अगर कोई हैकर चाहे तो बीच में ही देख सकता है कि आपने कौन सा इनपुट टाइप किया है यानी की आपने क्या नंबर टाइप किया आपने क्या-क्या टाइप किया यह सब देख सकता है वह जैसे कि मैंने आपको बताया http डी Code होता है यानी के सरवर के बीच और ब्राउज़र के बीच यह नॉर्मल बातचीत होता है जिसे अगर कोई भी चाहे तो आराम से देख सकता है लेकिन अगर आपके पास https कनेक्शन है तो अगर कोई हैकर अगर चाहे भी तो वह नहीं देख सकता के आपने क्या नंबर फील किया है आपने कौन सा Debit Card  का नाम डाला है इस तरह का जानकारी को नहीं देख सकता क्योंकि यह डी Code होता है जैसा कि मैंने आपको बता ही दिया है तो इस तरह से https कनेक्शन बहुत ही फायदेमंद होता है हम लोगों के लिए किसी Shopping वेबसाइट पर अपना पर्सनल इंफॉर्मेशन फील करते वक्त यह और भी बहुत सारे कामों में आते हैं जैसे कि मैंने आपको बता ही दिया है बाकी आप खुद भी इसका अंदाजा लगा सकते हो कि यह हम लोगों को किस-किस तरह से Secure कर सकता है

 

 

 

 

तो मैं आशा करता हूं https kya hai और इसके फायदे क्या है यह हम लोगों के पर्सनल Data को किस तरह सिक्योर करता है आपको इन सब सवालों का जवाब मिल चुका होगा अगर यह पोस्ट आपको अच्छा लगा है तो प्लीज इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिए ताकि उन लोगों को भी पता चल पाए http और https मैं क्या अंतर है और यह क्यों ज्यादा सिक्योर माना जाता है http के मुकाबले

Read Also google drive kya hai | google drive kaise use kare sikhen

Read Also paise kamane ka sabse aasan tarika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *